History of computer in hindi कम्प्यूटर का इतिहास

कम्यूटर एक ऐसी मानव निर्मित मशीन है जिसने हमारे काम करने, रहने, खेलने इत्यादि सभी के तरीकों में परिवर्तन कर दिया है। इसने हमारे जीवन के हर पहल को किसी न किसी तरह से छूआ है। यह अविश्वसनीय आविष्कार ही कम्प्यूटर है। पिछले लगभग चार दशकों में इसने हमारे समाज के रहन सहन, काम करने के तरीके को वदल डाला है। यह लकड़ी के एवैकस से शुरू होकर नवीनतम उच्च गति माइक्रोप्रोसेसर में परिवर्तित हो गया है।

 History of computer in hindi ( कम्प्यूटर का इतिहास )

1. एबाकस (Abacus) : 

प्राचीन समय में (गणना करने के लिए) एवैकस का उपयोग किया जाता था। एकस एक यंत्र है जिसका उपयोग आंकिक गणना (Arithmatic calculation) के लिए किया जाता है। गणना तारों में पिरोये मोतियों के द्वारा किया जाता है। इसका आविष्कार चीन में हुआ था।

Fiverr se paise kaise kamaye 

Meesho app se paise kaise kamaye

2. पास्कल कैलकुलेटर (Pascal Calculator) या पास्कलाइन (Pascaline) : 

प्रथम गणना मशीन (Mechanical Calculator) का निर्माण सन् 1645 में फ्रांस के गणितज्ञ ब्लेज पास्कल (Blaise Pascal)ने किया था । उस कैलकुलेटर इन्टर लीकिंग गियर्स (Inter locking gears) का उपयोग किया गया था, जो 0 से 9 संख्या को दर्शाता था। यह केवल जोड़ या घटाव करने में सक्षम था। अतः इसे ऐडींग मशीन (Adding Machine) भी कहा गया। यह भी history of computer in hindi का एक पार्ट है|

3. एनालिटिकल इंजन (Analyticai Engine) : 

सन् 1801 में जोसफ मेरी जैक्वार्ड ने स्वचालित बुनाई मशीन (Automated weaving loom) का निर्माण किया इसमें धातु के प्लेट को छेदकर पंच किया गया था और जो कपड़े की बुनाई को नियंत्रित करने में सक्षम या। सन् 1820 में एक अंग्रेज आविष्कारक चार्ल्स बैबेज (Charles Babbage) ने डिफरे सइंजन (Deference Engine) तथा बाद में एनालिटिकल इंजन बनाया। चार्ल्स वैटे कॉन्सेप्ट का उपयोग कर पहला कम्प्यूटर प्रोटोटाइप का निर्माण किया गया।

इस कारण च बैबेज को 'कम्प्यूटर का जन्मदाता' (Father of Computer) कहा जाता है। दस साल के मेहनत के बावजूद वे पूर्णतः सफल नहीं हुए। सन् 1842 में लेडी लवलेश (Lady  Lavelace) ने एक पेपर L.E. Menabrea on the Analytical Engine 1 r से अंग्रेजी में रूपान्तरण किया अगॅस्टा ने ही एक पहला Demonstration Program लिखा और उनके बाइनरी अर्थमेटिक के योगदान को जॉन वॉन न्यूमैन ने आधुनिक कम्प्यूटर के विकास के लिए उपयोग किया।

इसलिए अगॅस्टा को 'प्रथम प्रोग्रामर' तथा 'बाइनरी प्रणाली का आविष्कारक कहा जाता है।

4. हरमैन हेल्थ और पंच कार्ड ( Herman Hollerth and Punch Cards ): 

सन् 1880 के लगभग हौलर्ध (Hollerth) ने पंच कार्ड का निर्माण किया, जो आज के Computer card के तरह होता था उन्होंने हॉलर्थ 80 कॉलम कोड और सेंसस टेबुलेटिंग मशीन (Census Tabulator) का भी आविष्कार किया।

5.प्रथम इलेक्ट्रॉनिक कम्प्यूटर ENIAC (First electronic computer-ENIAC): 

सन् 1942 में हावर्ड यूनिवर्सिटी के एच आइकन ने एक कम्प्यूटर का निर्माण किया । यह कम्प्यूटर Mark I आज के कम्प्यूटर का प्रोटोटाइप था। सन् 1946 में द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान ENIAC (Electronic Numerical Integrated and Calculator) का निर्माण हुआ। जो प्रथम पूर्णतः इलेक्ट्रॉनिक कम्प्यूटर था।

6.T -EDSAC (Stored Program Concept-EDSAC): 

REAR कॉन्सेप्ट के अनुसार प्रचालन निर्देश (Operating instructions) और आँकड़ा (Data) जिनका प्रोसेसिंग में उपयोग हो रहा है उसे कम्प्यूटर में स्टोर्ड (stored) होना चाहिए और आवश्यकतानुसार प्रोग्राम के क्रियान्वयन (execution) के समय रूपान्तरित होना चाहिए। एडजैक (EDSAC) कम्प्यूटर कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में विकृसित किया गया था, जिसमें स्टोर्ड प्रोग्राम कॉन्सेप्ट समाहित या। यह कम्प्यूटर में निर्देश (Instruction) के अनुक्रम (Sequence) को स्टोर्ड करने में सक्षम था और पहला कम्यूटर प्रोग्राम के समतुल्य था।

7. यूनिभैक-I (UNIVAC-I): 

इसे Universal Automatic Computer भी कहते हैं। सन् 1951 में व्यापारिक उपयोग के लिए उपलब्ध यह प्रथम कम्प्यूटर था। इसमें कम्प्यूटर की प्रथम पीढ़ी (First generation) के गुण (characteristics) समाहित थे।

  • अवैकस - 3000-2000 ई. पूर्व, - प्रथम मशीनी कैलकुलेटर|
  • पास्कल कैलकुलेटर - 1645 - प्रथम मशीन जो जोड़, घटाव और गिनती करने में सक्षम था।
  • जैक्वार्ड विभींग लूम - 1801 - बुनाई के पैटर्न को कंट्रोल करने के लिए धातु प्लेट पंच होल के साथ उपोग किया गया था।
  • बैबेज एनालिटिकल इंजन - 1834-1871 - प्रथम जनरल परपस कम्प्यूटर बनाने की कोशिश, परन्तु बैबेज के जीवनकाल में ये संभव न हो सका।
  • हरमन टैबुलेटिंग मशीन - 1887-1896 - डेटा को काई में पंच करने तथा संग्रहित डेटा को सारनीकृत (tabulate) करने हेतु कूट (code) और यंत्र (device) का निर्माण किया गया।
  • हावई आहकेन मार्क 1 - 1937-1944 - इलेक्ट्रोमैकेनिकल कम्यूटर का निर्माण हुआ, जिनमें डेटा संग्रह के लिए पंच पेपर टैप का प्रयोग हुआ।
  • इनियक (ENIAC) - 1943-1950 - प्रथम सम्पूर्ण इलेक्ट्रॉनिक गणना यंत्र जिसमें प्रोग्राम (Program) स्थायी रूप से समाहित था।
  • वॉन न्यूमेन स्टोर्ड प्रोग्राम कॉन्सेप्ट - 1945-1952 - कम्प्यूटर के मेमोरी में निर्देश और डेटा (Instruction and Data) स्टोर करने की अवधारणा (concept) का विकास हुआ। डेटा और निर्देश को बाइनरी में कुटबद्ध (Code) करने की शुरुआत हुई।
  • एडजैक (EDSAC) 1 - 1946-1952 - प्रथम कम्प्यूटर जो सूचनाओं (Data) और निर्देशों (Instructions) को अपने मेमोरी में संग्रहित करने में सक्षम था।
  • यूनिभैक-1 (UNIVAC-I) - 1951-1954 - प्रथम कम्प्यूटर जो व्यवसायिक रूप से उपलब्ध था।

whatsapp se paise kaise kamaye

facebook se paise kaise kamaye

Google adsense se paise kaise kamaye

Conclusion- 

दोस्तों यह आर्टिकल History of computer in hindi कम्प्यूटर का इतिहास पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत शुक्रिया| उम्मीद करता हूं कि आपको आर्टिकल बहुत पसंद आया होगा| इस पोस्ट की बदौलत आपको कंप्यूटर का इतिहास जानने में मदद मिली होगी| अगर यह आर्टिकल कम्प्यूटर का इतिहास आपके लिए उपयोगी साबित हुआ हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा कर सकते हैं| इस पोस्ट को आप अपने दोस्तों के साथ शेयर करने के लिए फेसबुक, टि्वटर, टेलीग्राम आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं|

Popular posts from this blog

Meesho App से पैसे कैसे कमाये - पूरी जानकारी

Fiverr se paise kaise kamaye aur fiverr kya hota hai in hindi

Google adsense se lakho paise kaise kamaye